गूगल का चैक-आउट

गूगल वाले, लगता है कुछ भी किए बिना नहीं छोड़ेंगे। अब पेपाल की छुट्टी करने पर तुले हुए हैं। गूगल का नया शोशा है गूगल चैक-आउट। पहली नज़र में देखने पर पता चलता है कि इंटरफेस आसान होने के कारण इसे लाखों सदस्य बनाने में देर नहीं लगेगी। खरीदारों को बस अपना जीमेल पता प्रयोग […]

पेश हैं दो और टाइपराइटर

जब हिन्दी इंटरनेट की दुनिया का कोई नया बाशिन्दा यह सवाल पूछता है कि हिन्दी कैसे लिखें, तो सब का अलग अलग जवाब होता है – कोई कहता है, बरह प्रयोग करो, कोई यूनिनागरी, कोई हग, कोई छहरी, तो कोई IME। मेरा यह सोचना रहा है कि इंटरनेट पर देवनागरी के टाइपराइटर ज़्यादा होने की […]

हिन्दी जाल जगत – आगे क्या?

यह चर्चा आरंभ करने के लिए आलोक का धन्यवाद। सब से पहली बात यह समझने की है कि इंटरनेट हमारे समाज का ही आईना है। हमारे समाज का एक अधूरा आईना, जिस में हम केवल समाज के पढ़े-लिखे, “आधुनिक”, मध्यम-आय (और ऊपर) और मध्यम-आयु (और नीचे) वर्ग का प्रतिबिम्ब देख सकते हैं। समाज के इस […]

वर्डप्रेस का नया संस्करण

वर्डप्रेस का नया संस्करण १.५.१.३ उपलब्ध हो गया है। सामान्यतः मैं नए संस्करण को स्थापित करने में जल्दी नहीं करता जब तक उस में उपस्थित किसी विशेष गुण की सूचना न हो। पर इस बार वर्डप्रेस वाले कह रहे हैं कि उन के पुराने संस्करण में कोई सुरक्षा सम्बन्धी नुक्स है जिस के कारण प्रयोक्ताओं […]