अमरीका में मध्यावधि चुनाव आगामी मंगलवार, यानी 6 नवंबर 2018 को हैं। यह चुनाव देश के लिए बहुत महत्त्वपूर्ण हैं। इस ब्लॉग के पाठकों में से कई को यह उत्सुकता हो सकती है कि यह भला कौन से चुनाव हैं। किसे चुना जा रहा है? डॉनल्ड ट्रंप की सरकार पर इसका क्या असर होगा? अभी दो साल पहले ही तो चुनाव हुए थे, फिर मध्यावधि क्यों? यदि आपके मन में यह सब सवाल उबल रहे हैं तो आप सही जगह आए हैं। आइए इन सब प्रश्नों पर नज़र डालें, विशेषकर भारतीय चुनावों की तुलना में।

चुनाव दिवस
अमरीकी चुनावों की एक विशेषता यह है कि चुनाव हर साल एक नियत दिन पर होते हैं, जिसे इलेक्शन डे कहा जाता है। यह 1 नवंबर के बाद आने वाले पहले मंगलवार को होता है, जो इस साल 6 नवंबर को है। हर साल इस दिन चुनाव विभिन्न पदों के लिए होते हैं, जो राष्ट्रीय, राज्य, या स्थानीय स्तर पर हो सकते हैं। मतदाताओं से कुछ मुद्दों पर भी निर्णय/राय देने को कहा जा सकता है। इस आधार पर हर चुनाव क्षेत्र का मतपत्र अलग दिखता है। दरअसल चुनाव हर साल होते हैं, पर कुछ चुनाव हर दो साल में, कुछ हर चाल साल में, कुछ 6 साल में। आइए नज़र डालें कि इस साल किन पदों का निर्णय किया जा रहा है।

राष्ट्रपति चुनाव
जैसा आपको मालूम है, इस साल राष्ट्रपति चुनाव नहीं हो रहे हैं। राष्ट्रपति का चुनाव हर चार साल में होता है – पर 4 के गुणा वाले वर्षों (2012, 2016, 2020) में। चूँकि इस साल का चुनाव राष्ट्रपति की 4 साल की अवधि के मध्य में हो रहा है, इस कारण इसे मध्यावधि चुनाव कहते हैं। भारत और अन्य कई देशों में मध्यावधि चुनाव तब कहे जाते हैं जब सरकार गिरती है या गिरने वाली होती है। अमरीका के मध्यावधि चुनाव का राष्ट्रपति की पदावधि पर पर कोई सीधा असर नहीं पड़ने वाला है, हालाँकि पूरे निचले सदन और एक तिहाई उच्च सदन के चुनाव हो रहे हैं। संसदीय प्रणाली के उलट, यहाँ सरकार का मुखिया (राष्ट्रपति) एक अलग इकाई है और उसे संसद के विश्वास मत पर निर्भर नहीं रहना पड़ता। फिर भी, जैसा आप स्वयं अनुमान लगा सकते हैं, यदि संसद में राष्ट्रपति की पार्टी का बहुमत नहीं रहता तो उसकी विश्वसनीयता, प्रभावशीलता, और प्रबंधन क्षमता पर गहरा असर पड़ सकता है। यही कारण है कि वर्तमान राष्ट्रपति और उसकी सरकार के लिए यह चुनाव महत्त्वपूर्ण है और एक तरह से उनकी कार्यक्षमता की परीक्षा है। हाँ, हाल के इतिहास पर नज़र डाली जाए तो गत राष्ट्रपति ओबामा ने अपने कार्यकाल के 8 में से 6 साल बिना संसदीय बहुमत के गुज़ारे थे। 2010 में हुए मध्यावधि चुनाव में दोनों सदनों में रिबप्लिकन पार्टी का बहुमत हो गया था, और उनके कार्यकाल के अंत तक उनके हाथ बंधे रहे।

हाउस ऑफ रिप्रेज़ेंटेटिव्ज़

अमरीकी कांग्रेस के निचले सदन को हाउस ऑफ रिप्रेज़ेंटेटिव्ज़ (जैसे, लोक सभा) या केवल “हाउस” कहा जाता है। इसके चुनाव हर दो साल में होते हैं (सम संख्या वाले साल में) और इस साल भी हो रहे हैं। यानी राष्ट्रपति चुनाव वाले वर्ष में भी और राष्ट्रपति के कार्यकाल की अवधि के मध्य में भी। इस सदन में 435 सदस्य हैं — हरेक राज्य अपनी जनसंख्या के अनुपात में सदस्य भेजता है। आजकल रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है, जिसके ट्र्ंप सदस्य हैं। कुछ ओपिनियन पोल्ज़ के अनुसार बहुमत इस बार डेमोक्रेटिक पार्टी के हक में जा सकता है। देखते हैं 6 नवंबर को क्या होता है।

सिनेट

सिनेट कांग्रेस का उच्चतर सदन है, राज्य सभा की तरह। सिनेट में 100 सदस्य हैं — पचासों राज्य दो-दो सदस्य भेजते हैं, छोटे से छोटा भी और बड़े से बड़ा भी। हर दो साल में लगभग एक तिहाई सीटों के लिए चुनाव होते हैं, और चुने हुए सदस्य की सदस्यता 6 साल के लिए बनी रहती है। ये चुनाव भी हर सम संख्या वाले साल में होते हैं। इस बार भी 35 सीटों पर चुनाव हो रहे हैं। आजकल 51 सीटों के साथ बहुमत यहाँ भी रिपब्लिकन पार्टी का है, और अनुमान है कि यह बहुमत बना रहेगा। चूँकि सभी सीटों पर एक साथ चुनाव नहीं होता, सिनेट पर राजनीतिक उथल पुथल का ज़रा कम असर होता है। 35 में से 26 सीटें पहले से ही डेमोक्रेटिक पार्टी के पास हैं, उन सब को फिर से जीतना और बाकी 9 में से 2 जीतना काफी मुश्किल काम रहेगा।

राज्य और स्थानीय चुनाव
ऊपर बताए गए केंद्र सरकार से संबंधित चुनावों के अतिरिक्त राज्य स्तर, ज़िला स्तर, नगर स्तर, आदि के चुनाव भी इसी दिन होते हैं। उदाहरण के लिए, जिस राज्य में मैं रहता हूँ, वहाँ गवर्नर का भी चुनाव हो रहा है, और राज्य न्यायपालिका के सदनों का भी चुनाव हो रहा है — निचले सदन का पूरा और उच्चतर सदन का आधा। इन चुनावों के अतिरिक्त कई स्थानीय चुनाव हो सकते हैं विभिन्न स्थानों पर — नगरपालक (मेयर), पुलिस अध्यक्ष (शेरिफ), स्कूल बोर्ड के सदस्य, ज़िला कमिश्नर। कहना यह है कि जो भी चुनाव होता है, इसी दिन होता है। कुछ चुनाव विषम वर्षों में भी होते हैं, पर होते इसी दिन हैं – 1 नवंबर के बाद आने वाले मंगल को।

रायशुमारी
इन सब राजनीतिक पदों के चुनावों के अतिरिक्त कई बार मतदाताओं से कोई प्रश्न भी पूछा जा सकता है और उस पर उन्हें हाँ या नहीं में जवाब देने को कहा जा सकता है। उदाहरण के लिए, क्या सिगरेटों पर टैक्स बढ़ाया जाए, क्या समलैंगिकों को विवाह करने की अनुमति दी जाए, आदि। यह सब प्रश्न भी इसी मतपत्र पर लिखे जाते हैं। इस तरह की रायशुमारियाँ हर साल के चुनाव दिवस पर हो सकती है।

जब यह सब पद और प्रश्न एक मतपत्र पर लिखे जाते हैं तो आप समझ सकते हैं कि मतपत्र कुछ कुछ परीक्षा के प्रश्नपत्र जैसा दिखेगा। इंटरनेट से खोज कर 2012 के चुनाव का एक मतपत्र मैंने नीचे चिपकाया हुआ है। आप स्वयं देख सकते हैं कि किस तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं।

आशा है कि इस विषय पर और अन्य विषयों पर लेख लिखता रहूँगा। वापस चक्कर लगाते रहें। टिप्पणी करें, शेयर करें। आपका भला होगा।

Read in English

Tags: , ,

1 Comment on अमरीका के मध्यावधि चुनाव

  1. हमेशा की तरह बहुत ही ज्ञानवर्धक लेख है। एक छोटा-सा सुझाव भी है। आज-कल अधिकांश पठन-पाठन मोबाइल पर है। कृपया साइट स्वतः मोबाइल व्यू के लिए उपयुक्त बनाने की सुविधा डालें।

Leave a Reply