गूगल की उर्दू – कराची मतलब भारत

गूगल ने उर्दू के शौकीनों के लिए बहुत ही नायाब टूल उपलब्ध करा दिया है। पिछली 13 मई से गूगल अनुवादक में उर्दू जोड़ दी गई है, यानी आप अब उर्दू से, या उर्दू में, दर्जनों भाषाओं का अनुवाद कर सकते हैं। गूगल ट्रान्सलेट पर जाइए, “Translate from” में “Urdu ALPHA” चुनिए, “Translate to” में हिन्दी, अंग्रेज़ी या दर्जनों अन्य भाषाओं में से कोई भी चुन लीजिए और ट्रान्सलेट का बटन दबाइए। अनुवादक अभी एल्फा, या यूँ कहें अलिफ़ अवस्था में है, इस कारण कुछ बचपना, कुछ शरारतें तो करेगा ही, पर कुल मिला कर काम की चीज़ है।

बढ़िया बात यह है कि इस टूल का प्रयोग न केवल अनुवाद करने में किया जा सकता है, बल्कि उर्दू लिखनें में भी किया जा सकता है, और कुछ शब्दों का हिन्दी से लिप्यन्तरण करने में भी प्रयोग किया जा सकता है। यानी यदि आप को उर्दू लिखनी पढ़नी नहीं आती, तो भी आप रोमन अक्षरों का प्रयोग कर उर्दू टाइप कर सकते हैं। ध्यान रखें कि Type Phonetically वाला चैकबॉक्स सक्रिय हो, अब उर्दू वाले बक्से में bhaarat लिखें और आप को بھارت लिखा मिल जाएगा।

कुछ वर्ष पहले मैं ने एक पोस्ट लिखी थी जिस में मैं ने बताया था कि जैसे अन्य भारतीय भाषाओं में एक लिपि से दूसरी में लिप्यन्तरण संभव है, वह उर्दू के साथ क्यों संभव नहीं है। लिपि की भिन्नता की यह समस्या किसी हद तक गूगल ने इस टूल के द्वारा हल कर दी है, हालाँकि कमियाँ अभी मौजूद हैं।

अनुवाद की कुछ कमियाँ तो बड़ी रोचक हैं, और इनकी ओर ध्यान दिलाने के लिए शुएब और अरविन्द का धन्यवाद — उन से बज़ पर कुछ बातचीत हुई थी इस बारे में। मुलाहिज़ा फरमाइए गूगल-उर्दू-अनुवादक के कुछ नमूने

उर्दू में लिखिए हिन्दी अनुवाद
کراچی (कराची) भारत
افغانستان (अफ़ग़ानिस्तान) भारत
انڈیا (इंडिया) भारत और पड़ौस
پاکستان (पाकिस्तान) भारत

यानी गूगल वालों को इस क्षेत्र में भारत के सिवाय कुछ नहीं दिखता। यह विशेष अनुवाद उर्दू से हिन्दी में ही उपलब्ध है, उर्दू से अंग्रेज़ी में अनुवाद ठीक हो रहा है। यह आश्चर्च की बात है कि जब कि उर्दू से हिन्दी में अनुवाद सब से आसान होना चाहिए था, इसी में दिक्कतें आ रही हैं। अरे गूगल भाई, कुछ नहीं आता तो शब्द को जस का तस लिख दो। हिन्दी से उर्दू के अनुवाद में भारत का अनुवाद भारत ही है, पर भारत और पड़ौस लिखेंगे तो उसका अनुवाद है انڈیا (इंडिया)।

ऊपर दिए शब्दों के इस स्क्रीनशॉट में देखिए
Google Translator Urdu Alpha

वैसे कुछ उर्दू पृष्ठ जो आप अभी तक नहीं समझ पाते थे, अब समझ पाएँगे। पृष्ठ का यूआरएल, या मसौदा, गूगल के अनुवादक में डालिए और अनुवाद पाइए। समझ पाने लायक तो अनुवाद हो ही जाएगा। उदाहरण के लिए शुएब के इस ब्लॉग-पोस्ट का अनुवाद

कुछ प्रश्न हों, कुछ संशय हों, कृपया टिप्पणी खाने में पूछें। यदि आपको भी कुछ अजीबोग़रीब तरजमे मिले हों तो अवश्य बताएँ।

Join the Conversation

13 Comments

  1. कुछ न होने से तो कहीं बेहतर है. लेकिन अरबी स्क्रिप्ट का ट्रांसलेशन यहां काफी पहले से ही मौज़ूद रहा है.

  2. …और अगर इसी स्क्रिप्ट को उर्दू के बजाय पर्शियन से हिन्दी में ट्रांसलेट किया जाए तो बेहतर नतीज़े आएंगे.

  3. खुशी की बात है कि यह सर्विस alfa में ही सही शुरू हो गयी है, इस भारतीय भाषा उर्दू के लिये यह अच्‍छी खबर है आगे तो बहुत से काम अपने आप हो जाने हैं, कुछ इस भारतीय भाषा के साथ खुदाई मदद भी है कि इसका एक एक फोंट एक साफ्टवेयर inpage है जो सारी दुनिया के जानने वालों और अखबार और पत्रिकाओं के पास होता है जिससे उन्‍हें आपसे में बेशुमार आसानियां हैं

    युनिकोड की दुनिया में तो इसका एक युनिकोड फोंट नहीं बल्कि कलक्‍शन दस्‍तयाब हैं

    अब inpage से आनलाइन युनिकोड बदल सकते हैं
    http://urdu.ca/convert

  4. सभी की टिप्पणियों के लिए धन्यवाद।

    @अनुराग जी, बढ़िया। आप ने इस टाइपराइटर की एक और कमी को उजागर कर दिया। आप ने बधाई लिखना चाहा, तो वह बढ़ाई लिख कर आ गया है। शायद उर्दू में यही निकटतम शब्द था।

    @काजल जी, आप की बात सही है। अरबी-फारसी से इन्हीं शब्दों का बेहतर तरजमा मिल रहा है।

    @उमर जी, फाँट के कलेक्शन तो दस्तियाब होंगे, पर सब इन्सटाल करने पड़ते हैं। जो नस्तलीक का डिफाल्ट फाँट विंडोज़ के साथ आता है, उससे तो उर्दू पढ़ने में खासी मशक्कत करनी पड़ती है। इनपेज से जो टेक्स्ट बनता है, उसे आम ऑनलाइन अखबार इमेज बनाकर छापते हैं, जिसमें खोज करना मुश्किल होता है। दरअसल उर्दू हाथ से लिखी ही अच्छी लगती है, टाइप या कंप्यूटर से नहीं।

  5. رمن جی سلام،
    چونکہ یہ ابھی بچہ یعنی الفا میں ہے اسی لئے معاف کئے دیتے ہیں
    اور بھی اُردو کے کئی الفاظ ہیں جس کا ہندی ترجمہ حیرت انگیز اور مزاحیہ ہے جیسے بچپنا ہے اور دل تو بچہ ہے جی ـ 🙂

  6. Are sahab aaj ka Karachi an Afganistan hai to Pracheen Bharat Varsh ka hi hissa jise halat aur kuch wajhon ki wajah se alag hona pada ………. kahair mere hisab se ye koi Vishesh Galti nahi hai

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *