ब्लॉगर प्रयोक्ताओं के लिए खुशखबरी

यह शुभ समाचार उन लोगों के लिए है जो अपने डोमेन (जैसे shuaib.in या debashish.com) पर जाना चाहते हैं, पर होस्टिंग का खर्चा नहीं करना चाहते। हम में से अक्सर चिट्ठाकारों ने ब्लॉगर या वर्डप्रेस.कॉम की मुफ्त सेवाओं से शुरुआत की है, और उस के बाद अपने सर्वर पर चले गए हैं। अपने सर्वर पर जाने के लिए हमें एक डोमेन नाम रजिस्टर करना पड़ा और उस के इलावा वेब होस्टिंग की सेवा खरीदनी पड़ी। डोमेन नाम रजिस्टर करने के लिए एक वार्षिक शुल्क देना पड़ता है, जो सात-आठ डॉलर (300-350 रुपए) सालाना से शुरू होता है, और उस के अतिरिक्त होस्टिंग के लिए साल के कम से कम 45-50 डालर (2000-2200 रुपए)। अब नए ब्लॉगर की मेहरबानी से आप केवल डोमेन नाम रजिस्टर कराइए, दूसरे वाला खर्चा – यानी होस्टिंग का खर्चा – आप बचा सकते हैं, क्योंकि आप उसी डोमेन को ब्लॉगर के मुफ्त होस्ट की ओर डाइरेक्ट कर सकते हैं। आप के पर्मालिंक्स अपने आप बदल जाएँगे, और जहाँ जहाँ आप ने (जैसे नारद, टेक्नोराती, आदि पर) अपना पुराना पता दिया है, वह अपने आप नए पते पर रिडाइरेक्ट हो जाएगा। जैसे कि http://chitthacharcha.blogspot.com/ 2006/12/blog-post_24.html स्वयं ही http://chitthacharcha.com/2006/12/blog-post_24.html पर चला जाएगा, बशर्ते कि chitthacharcha.com रजिस्टर किया गया हो और उस की DNS Settings ठीक से भरी गई हों। अधिक जानकारी के लिए, और यह सब कैसे करना है, यह जानने के लिए इस पृष्ठ पर जाएँ। और सहायता चाहते हों तो चिट्ठाकार ग्रुप पर पूछें। हाँ यदि आप अपने डोमेन नाम से ब्लॉगिंग के अतिरिक्त और भी काम लेना चाहते हैं (जैसे मेरे सर्वर पर यूनिनागरी या अन्य पृष्ठ हैं) तो यह सेवा आप के लिए नहीं है।

भारत में डोमेन नाम रजिस्टर करने के लिए एक अच्छी कंपनी है गोहिन्दी, और क्रेडिट कार्ड से पैसा दे कर अमरीकी कंपनी से रजिस्टर करना चाहते हैं तो गोडैडी अच्छी कंपनी है। गोडैडी वाले सालाना 8.95 USD लेते हैं, पर आप उन की साइट पर घूमें फिरें तो आसानी से दस प्रतिशत का डिस्काउंट ले सकते हैं। दिक्कत हो तो पूछें। डोमेन नाम रजिस्टर करने से आप का नाम व पता हू-इज़ रजिस्ट्री में आ जाता है, और उसे कोई भी खोज सकता है। यदि आप उस पते को गुप्त रखना चाहें तो 8-10 डालर साल के और लग जाते हैं प्राइवेट रजिस्ट्रेशन के। पर गूगल ने गोडैडी से मिल कर पूरी गुप्त रजिस्ट्रेशन करने का पूरा खर्चा दस डॉलर रखा है। है न बढ़िया सौदा?

क्या इस से ब्लॉगर ने अन्य ब्लॉग प्लैटफार्मों से बाज़ी मार ली है?

Join the Conversation

10 Comments

  1. बिलकुल, ब्लॉगर ने अन्य ब्लॉग प्लैटफार्मों से बाज़ी मार ली है. कम खर्चे में अपना डोमेन नेम का सपना साकार होगा.

  2. Per mujhe iss ki zaroorat samajh nahi aayi. Blogger.com to pehle bhi kissi anya server per FTP se publish karne ki suvidha deta hi tha, jaise Dr.Sunil apna blog publish karte hein kalpana.it per.

  3. कुछ समय पहले (शायद एक-दो महीने आदि) वर्डप्रैस.कॉम ने यह सुविधा शुरु की थी और अब ब्लॉगर ने भी। ब्लॉगर के नए वर्जन में अधिकतर फीचर्स वर्डप्रैस.कॉम से प्रेरित हैं।

    खैर हम तो वर्डप्रैस.कॉम का दामन नहीं छोड़ेंगे। काहे ? कभी फुरसत से बताएंगे। 😛

  4. सभी टिप्पणियों के लिए धन्यवाद।

    देबाशीष, पहले आप को डोमेन नाम के अतिरिक्त अपना वेबस्पेस खरीदना होता था, और ब्लॉगर आप का ब्लॉग उस वेबस्पेस पर FTP द्वारा पब्लिश कर देता था। अब आप को केवल डोमेन नाम खरीदने की ज़रूरत है, वेबस्पेस ब्लॉगर दे ही रहा है। इस से एक चिट्ठाकार के लिए वार्षिक खर्चे में 90% कमी होने की संभावना है।

    श्रीश, वर्डप्रेस.कॉम आने के पहले से ही वर्डप्रेस को अपने सर्वर पर प्रयोग करने की सुविधा थी वर्डप्रेस.ऑर्ग से, जिसे इस चिट्ठे समेत कई चिट्ठों पर प्रयोग किया जाता है। खर्चा डोमेन रजिस्ट्रेशन का भी है और होस्टिंग का भी। वर्डप्रेस.कॉम ने निजी डोमेन के साथ मुफ्त होस्टिंग कब शुरू की, मुझे मालूम नहीं, कृपया उस का लिंक दें। वर्डप्रेस.कॉम पर एक असुविधा यह है कि यदि आप एडसेन्स का प्रयोग करना चाहेंगे तो नहीं कर सकते।

  5. अपडेट – मैं ने वर्डप्रेस.कॉम की साइट पर खोज की। आज की तारीख में वे इस सुविधा के लिए, जिसे वे वी.आइ.पी. होस्टिंग कहते हैं, 500 USD सेट-अप शुल्क और 250 USD माहाना मांगते हैं।

    रमण जी आप ठीक कहते हैं मैंने वर्डप्रैस.कॉम पर खोज की तो पाया कि यह सुविधा मुफ्त नहीं है लेकिन इतनी महंगी नहीं जितनी आप बता रहे हैं।

    अगर आपके पास पहले से अपना डोमेन नाम है तो १० डॉलर प्रतिवर्ष का शुल्क लगेगा और अगर आप वर्डप्रैस.कॉम वालों से खरीदना चाहते हैं तो १५ डॉलर प्रतिवर्ष लगेंगे।

    इस बारे में जानकारी वर्डप्रैस.कॉम के आधिकारिक ब्लॉग पर यहाँ तथा वर्डप्रैस.कॉम फोरम पर यहाँ दी गई है।

    स्पष्ट है कि अपने डोमेन नेम वाला विकल्प तो महँगा पड़ेगा। दूसरे वाला कुछ ठीक है। अब सोचने की बात ये है कि ब्लॉगर के साथ किसी बाहरी कंपनी का डोमेन नेम ज्यादा सस्ता पड़ेगा या वर्डप्रैस.कॉम के साथ सालाना १५ डॉलर वाला।

    बाई दी वे, अपना काम तो वैसे ही चल जाता है। फिर भी शौक पूरा करना हो तो फ्री रीडायरेक्शन सेवाएं भी हैं।

  6. प्रिय कौल जी,

    आपने चिठ्ठाकारों के बारे में और उनके लिए बेहद सटीक जानकारियां दीं हैं। ढेरों शुभकामनायें। मैं यूनीकोड का इस्तेमाल बडी सहजता से कार रहा हूँ। आपसे एक विनम्र निवेदन है कि अक्षर “ड॰” को भि यूनीकोड में शामिल करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *