देसी रेडियो

Update: see http://radio.kaulonline.com/
आज रवि रतलामी भारत में वर्ल्डस्पेस रेडियो की बात कर रहे थे। मैं परदेस में देसी रेडियो की बात कर रहा हूँ।

मुझे रेडियो पर गाने सुनने में जो मज़ा आता है, वह सीडी या टेप पर सुनने में नहीं आता। रेडियो पर उत्सुकता रहती है कि अगला गाना कौन सा आएगा, और जब कोई पुराना या मनपसन्द गाना आता है तो बहुत खुशी होती है। जब से भारत छोड़ा है, तब से देसी रेडियो की बड़ी याद आती है।

यहाँ जिन इलाकों में देसी लोगों की आबादी काफी होती है, वहाँ अक्सर कुछ घंटों के लिए ही सही, पर भारतीय रेडियो सुनने को मिलता है। इन रेडियो कार्यक्रमों का स्तर आम तौर पर बहुत घटिया होता है। टोरॉण्टो, कैनडा में कुछ देर रहने पर मेरा यही अनुभव रहा। एक चैनल तो एक माँ-बाप-बेटा-बेटी का परिवार चलाता है, और लगभग हर कार्यक्रम वही प्रस्तुत करते हैं। अक्सर कार्यक्रमों में स्थानीय देसी व्यापारियों को इंटरव्यू के नाम पर बुलाया जाता है, और उन के माल या सेवाओं का विज्ञापन होता है। बीच बीच में फिल्मी गीत सुनाए जाते हैं। खैर ये लोग भी क्या करें, इन्हें भी पैसा कमाना है, पर कभी कभी इन कार्यक्रमों की गुणवत्ता-हीनता पर खीझ होती है। टोरॉण्टो में भारतीय कार्यक्रमों में मुझे सब से अच्छे लगते थे वेस्ट इंडीज़ से आए भारतीय मूल के लोगों द्वारा चलाए गए कार्यक्रम।

यहाँ मेरीलैंड में जिस क्षेत्र में मैं रहता हूँ, वहाँ कोई देसी रेडियो उपलब्ध नहीं है। इस कारण मैं काफी समय से खोज में हूँ किसी इंटरनेट रेडियो की — ऐसा जहाँ पॉप-अप विज्ञापन न हों या कम हों, और नए पुराने गाने चलते रहें। इस खोज के दौरान मिली एक माइक भाई की साइट, जिन्होंने सूची बना रखी है दुनिया भर के ऐसे रेडियो स्टेशनों की जो इंटरनेट पर प्रसारण करते हैं। दक्षिण और पूर्व एशिया की सूची में भारत का कहीं नाम नहीं है। अब आकाशवाणी से तो उम्मीद कर नहीं सकते कि लगातार अपने कार्यक्रम वेबकास्ट करे। सिंगापोर का एक स्टेशन है, जो ठीक से चलता नहीं है। मध्य-पूर्व के स्टेशनों में संयुक्त अरब अमीरात का सिटी १०१.६ है, जो अच्छा है। इस के इलावा यूरोप, अमरीका और अफ्रीका की सूचियों में भी कई स्टेशन हैं जो भारतीय संगीत बजाते हैं। गूगल से खोजने पर एक और इंटरनेट रेडियो स्टेशन मिला जिस का नाम तो बकवास है, पर काम बढ़िया करता है। बस एक बार साइन-अप करना पड़ता है। वैसे आकाशवाणी का पुराना यूआरएल भी वहीं ले जाता है।

जब तक कोई और सुझाव मिले या भारत का कोई स्टेशन वेबकास्ट करने लगे, तब तक मैं रेडियो बकवास पर गाने सुन रहा हूँ।

Join the Conversation

6 Comments

  1. रेडियो पर उत्सुकता रहती है कि अगला गाना कौन सा आएगा, और जब कोई पुराना या मनपसन्द गाना आता है तो बहुत खुशी होती है…

    बिलकुल सही फरमाया आपने. रेडियो की यही उत्सुकता इसे नायाब बनाती है और आप चाहे कितना ही खर्च कर लें, रेडियो पर उपलब्ध गानों का, संगीत का भंडार आपके पास कभी भी नहीं हो सकता!

  2. भैया इन्टरनैट पर हिन्दी रेडियो तो बहुत मिल जायेंगे, लेकिन क्वालिटी रेडियो मे मेरी पसन्द हैं:

    सनराइज रेडियो (लंदन से है, काफी अच्छे प्रोग्राम है)
    हम एफ़ एम (इन्टरनैट पर भी है, शायद लाइव नही, लेक्नि क्वालिटी बहुत सही है।

  3. टिप्पणियों में हमें कई अच्छे रेडियो स्टेशन के नाम मिले. दो और रेडियो स्टेशन हैं- मस्त रेडियो और रेडियो तराना. इस लिंक में दोनों सूचीबद्ध हैं- http://www.hindilink.com/hindi_radio.html

  4. रमण भाई, सारे लिंक इकट्ठा करके सर्वज्ञ मे नया पेज बनाकर डाल दीजिये। ताकि दूसरे लोगों का भी भला हो सके।

    देखिये बातो बातों मे ही हमे कितनी अच्छी जानकारी मिल गयी। तभी तो कहते है इन्टरनैट का दूसरा नाम सहकारिता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *