मेरी प्यारी पाती, मुझे बहुत दुख है कि तुम अब इस दुनिया में नहीं रही। खैर जहाँ भी हो, सुखी रहो। इस दुनिया में फिर आने की तो उम्मीद छोड़ दो क्योंकि इस दुनिया में तुम्हारा स्थान ईमेल ने ले लिया है। सालों हो गए तुम्हें गुज़रे हुए। वास्तव में तुम्हारी याद तो बहुत आती […]

Continue reading about एक पाती, पाती के नाम (10वीं अनुगूँज)

admin on May 18, 2005

बीबीसी हिन्दी की साइट पर एक कड़ी है कान में ग्लैमर गर्ल्स। इस में पेरिस के कान (Cannes) फिल्मोत्सव में आई हुई विभिन्न अभिनेत्रियों के चित्र हैं, जो लाल कालीन पर आती हैं, मटकती हैं, अपने वस्त्रों (या वस्त्रहीनता) का प्रदर्शन करती हैं, और चारों ओर खड़े फोटोग्राफर चित्र खींचते हैं। बीबीसी के इस स्लाइड […]

Continue reading about कान की बात

पाकिस्तान के धार्मिक नेताओं यानी उलेमा ने एक फ़तवा जारी किया है जिसमें कहा गया है किसी इस्लामी देश में सार्वजनिक स्थलों पर आत्मघाती हमला करना इस्लाम की नज़र में हराम है। यह सुर्खी देख कर बहुत अच्छा लगा, पर फिर ध्यान दिया कि इस में कहा गया है, “किसी इस्लामी देश में..”। यानी, किसी […]

Continue reading about चित भी मेरी, पट भी मेरी

admin on May 14, 2005

IMG_9108 Originally uploaded by elcaseo. यह चित्र फ्लिकर से मिला। यह मेरी पहली प्रविष्टि है फ्लिकर से सीधे “ब्लॉग दिस” पर क्लिक कर के। Google ने अपने नाम को यहाँ अँग्रेज़ी में ही लिखा है। ये लोग

Continue reading about Google भारत